मौसेरी बहन के साथ मजेदार सेक्स भरी रात

Xxx कजिन सेक्स स्टोरी मेरी मौसी की बेटी के साथ पहली चुदाई की है. हम दोनों एक दूसरे को पसंद करते थे पर चुदाई का मौक़ा उसी के घर में मिला.

दोस्तो, मेरा नाम सोनू है और मैं रांची का रहने वाला हूं.
मैं यहां पर अपने परिवार के साथ ही रहता हूं.

काफी समय से मैं अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ रहा हूं. मुझे अन्तर्वासना की सेक्स कहानियां पढ़ने में बहुत मजा आता है.

मुझे ये Xxx कजिन सेक्स स्टोरी लिखने में काफी समय लग गया.

मेरी उम्र 21 साल है. मैं दिखने में काफी स्मार्ट हूं और रोजाना जिम करता हूं. इससे मेरी बॉडी अच्छी बनी हुई है और मैं काफी आकर्षक दिखता हूं.
मेरा लंड का साइज 6 इंच है. मेरी लम्बाई 5 फीट 7 इंच है.

मैं एक बिजनेसमैन हूँ. मेरा काम ज्यादा बड़ा नहीं है. मैं छोटे स्तर का व्यापार किया करता हूं. अभी साथ में पढ़ाई भी चल रही है, इसलिए मुझे वहां भी समय देना पड़ता है.

आज मैं आप लोगों को अपने साथ घटी एक मादक घटना के बारे में बताने जा रहा हूं.

यह कुंवारी लड़की की चुदाई वाली सेक्स कहानी है. ये सेक्स मेरे और मेरी मौसी की लड़की के बीच हुआ था.
मेरी मौसी की लड़की का नाम रानी है. रानी मेरी गर्लफ्रेंड भी है.

रानी देखने में बहुत अच्छी है और उसकी उम्र 20 साल है. उसका कद 5 फीट 3 इंच का है. उसका फिगर 30-28-32 का है.

यह कहानी तब की है, जब वो पढ़ाई कर रही थी.

हम दोनों चुदाई से पहले एक साल से प्यार के रिश्ते में थे. इसलिए जब भी मिलते थे तो हम दोनों किस कर लेते थे और मैं उसके दूध को भी दबा देता था.

हम दोनों व्हाट्सएप पर बहुत बातें भी करते थे और व्हाट्सएप में कभी कभी रोमांटिक बात भी करते थे इसलिए वो मुझसे जल्दी ही गर्म हो जाती थी.

वो बार-बार मुझसे मिलने के लिए जिद करती थी इसलिए मैं अचानक उससे मिलने चला गया और उसको सरप्राइज दिया.
मुझे देख कर वो बहुत खुश हुई और उसकी मम्मी भी मुझे देख कर बहुत खुश हुईं.

उसके घर में मुझे सब बहुत मानते हैं.
म लोग उसके घर के सभी कामकाज के वक्त जाते थे इसलिए मेरी मौसी मुझे देख कर बहुत खुश थीं.

अब मैं उसकी फैमिली के बारे में बताता हूं. उसकी मम्मी यानि मेरी मौसी एक टीचर हैं.
उसके पापा का दुकान है. भाई का नाम राजा है. राजा स्कूल में पढ़ता है.

रानी उस टाइम कॉलेज में पढ़ाई करती थी, वो कॉलेज ज्यादा नहीं जाती थी, घर पर ही रह कर पढ़ाई करती थी.

जब मैं उसके घर पहुंचा, तो शाम के करीब 5 बजे गए थे.

रानी तो मुझे देखते ही मौसी सामने ही मेरे गले लग गई.

उस दिन उसका भाई नहीं दिख रहा था.
मैंने मौसी से पूछा- राजा नहीं दिख रहा है?
मौसी बोलीं- वो स्कूल की तरफ से पटना टूर में गया है.

मैं यह सुन कर बहुत खुश हुआ और मैंने रानी की तरफ देख कर आंख दबा दी.

फिर मैंने और मौसी ने बैठ कर बहुत सारी बातें कीं.

उसके बाद मौसी बाथरूम गईं, तो मैंने रानी के पास जाकर उसके होंठों पर एक किस किया और उससे कहा- आज हम दोनों सुहागरात मनाएंगे.
ये सुनकर रानी ने मुझे फिर से किस कर दी.

तभी बाथरूम का दरवाजा खुलने की आवाज आई तो हम दोनों अलग हो गए.

उसकी मम्मी बाहर आ गईं.

मैं बस रानी को ही देख रहा था.

फिर 7 बज गए तो रानी के पापा भी दुकान से आ गए.

उसके बाद हम सब लोग खाना खाने लगे. डिनर के बाद हम सभी बात करने लगे.

फिर मौसी मुझसे बोलीं- तुम बहुत थक गए होगे सोनू, तो अब तुम सो जाओ. तुम रानी के रूम में जाकर सो जाओ. बाकी बातें सुबह करेंगे.

उस टाइम 9:15 बजे गए थे.

मैं और रानी उसके रूम में चले गए और रानी की मम्मी और पापा अपने रूम में सोने चले गए थे.

हम दोनों जब रूम में आए, तो रानी मुझसे गले लगे लग गई और किस करने लगी.

मैंने रानी से कहा- आराम से डार्लिंग … आज पूरी रात दोनों को एक साथ ही रहना है.
रानी बोली- हां यार, इतने दिनों के बाद आज इतना अच्छा मौका मिल रहा है.

मैं बोला- आज मैं पूरी रात तुमको मजा दूँगा डार्लिंग.
वो हंसने लगी.

मैंने उसके माथे पर किस किया और हम दोनों अलग हो गए.

फिर वो मेरे सामने ही अपनी ड्रेस चेंज करने लगी.
उसने अपना कुर्ता उतारा तो मैं उसकी चूचियों को ब्रा में कैद देख कर पागल हो गया.

फिर उसने मदमस्त निगाहों से मेरी तरफ देखते हुए अपनी सलवार का नाड़ा ढीला किया और नाड़ा छोड़ दिया.

आह मेरी बहन मेरे सामने सिर्फ ब्रा पैंटी में रह गई थी.
मैं उसे देख कर अपने लंड को सहलाने लगा.

अब उसने मेरे सामने ही एक वाइट कलर की टी-शर्ट और ब्राउन कलर का ट्राउजर पहन लिया.

उसके बाद मैंने भी अपनी जीन्स और चड्डी दोनों को खोला, तो वो मेरे खड़े और चिकने लंड को देख रही थी.
वो लंड को ललचाई नजरों से देख रही थी और अपने होंठों को दांतों से चबा रही थी.

मैंने लंड सहलाते हुए उससे कहा- टेंशन मत लो जान … आज ये तुम्हारा ही है.
इस पर वो शर्मा गई.

अब मैंने ट्राउजर पहन लिया और अपनी शर्ट खोल कर टी-शर्ट पहन ली.

उसके बाद मैं और रानी एक ही बेड में लेट गए.

बेड में जाते ही मैं रानी के रसभरे होंठों को चूसने लगा और वो मेरा साथ देने लगी.

फिर मैंने किस करते करते उसकी टी- शर्ट के ऊपर से मम्मों को जोर जोर दबाने लगा.
वो मस्त होने लगी.

मैंने उसकी टी-शर्ट के अन्दर हाथ डाला और दूध दबाने लगा.
उसकी आंखों में प्यास बढ़ती दिख रही थी तो मैंने उसकी टी-शर्ट को हटा दिया.

मेरे सामने मेरी बहन की रेड कलर की रेशमी ब्रा थी.
उस समय उसके गोरे मम्मों पर लाल ब्रा बहुत ही अच्छी लग रही थी.
मैं ब्रा के ऊपर से ही उसकी चूचियों को एक एक करके दबा रहा था.

उसने धीरे से कहा- चूसोगे नहीं?
मैं तो समझो घायल ही हो गया और उसके एक दूध के निप्पल को अपने होंठों में दबा कर चूसने लगा.

मेरे चूसने से उसकी कामुक आंह निकल गई और वो अपने हाथ से मुझे दूध पिलाने लगी.

फिर मैंने उसकी ब्रा को खोल दिया और बारी बारी से अपनी बहन रानी के दोनों मम्मों को चूसने लगा और दबाने भी लगा.

हम दोनों को बहुत मजा आ रहा था.
फिर मैं उसकी नाभि में किस करने लगा तो उसको बहुत मजा आने लगा.

अब मैंने उसका ट्राउजर और चड्डी दोनों को एक साथ उतार दिया.
उसकी चूत पहले से गीली हो चुकी थी.

मैंने नीचे सरक कर उसकी चूत पर जीभ लगा दी और चूत को चाट कर साफ कर दिया.
मैं उसकी चूत को अब चूसने लगा था.

उससे रहा नहीं जा रहा था, वो बोलने लगी- आंह सोनू अब और मत तड़फाओ … जल्दी से अन्दर डालो.
मैंने कहा- क्या अन्दर डालना है बहन जी?

वो मेरे बहन जी कहने पर शर्मा गई और धीमे से बोली- भइया अपना लंड अपनी बहन की चूत में डालो न!
मैं भी भाई बहन के इस सेक्स भरे रिश्ते को परवान चढ़ते देख कर वासना से भर उठा.

मैंने जल्दी से अपने कपड़े उतारे और अपने लंड को उसके मुँह के पास ले गया.
जब मैंने रानी से लंड चूसने को बोला तो उसने मना कर दिया.

मैंने उस वक्त तो कुछ नहीं कहा पर मन में सोच लिया कि मैं अपनी बहन से अपना लंड जरूर चुसवाऊंगा.

उसके बाद मैंने तुरंत अपना लंड उसकी चूत पर लगा दिया और चुत की फांकों में लंड का सुपारा रगड़ने लगा.

वो ‘आह्ह्ह … आह्ह्ह … ’ करने लगी और बोली- अब अपना लंड चुत के अन्दर डाल दो ना प्लीज़ … मुझसे और नहीं रहा जा रहा है!

मैंने उसकी एक टांग को अपने कंधे पर लिया और लंड को उसकी चूत में सैट करके एक जोर से झटका दे मारा.

अभी मेरे लंड का सुपारा ही उसकी चूत में गया था कि उसने दर्द से कराहते हुए मुझसे कहा- आंह भाई मर गई … तुम अपना लंड बाहर निकालो!

उसकी आंखों में आंसू आ गए और वो मुझसे दूर होने की कोशिश करने लगी.

मैंने अपने होंठों को उसके होंठों में लगा दिया और उसे किस करने लगा.

वो चुप हो गई और अपना दर्द भूलने लगी.

जब मैंने देखा कि उसका दर्द थोड़ा कम हो गया है तो मैंने एक और झटका मार दिया.

वो फिर से चिल्लाने लगी लेकिन उस वक्त मैं इतने जोश में आ गया था कि उसकी सुनने की हालत में नहीं था.
मैंने उसकी एक न सुनी और अपने लंड से जोर झटका मार कर अपना पूरा लंड उसकी चूत में ठांस दिया.

वो दर्द से बिलबिला उठी थी और लगभग बेहोश सी हो गई थी.

फिर मैं रुक कर उसको किस करने लगा.

थोड़ी देर में जब उसका दर्द कम हुआ तो मैं धीरे धीरे अपने लंड को अन्दर बाहर करने लगा.
अब वो भी अपनी गांड उठा उठा कर मेरा साथ दे रही थी.

करीब 10 मिनट के बाद मैंने उसको घोड़ी बनने को बोला, तो वो तुरंत बन गई.

मैं उसको पीछे से लंड पेल कर जोर जोर से चोदने लगा.
उसकी चूत झड़ने लगी थी और पानी निकलने लगा था मगर मैं उसको चोदता रहा.

अब उसकी चूत से फुच फुच की आवाज़ जोर जोर से आ रही थी.

कुछ ही धक्कों में वो फिर से गर्मा उठी और उसके मुँह से आवाज निकलने लगी.

‘आह … आह्ह … चोदो मुझे ओह … आह चोद चोद कर मेरी चूत का भोसड़ा बना दो भाई … आह्ह्ह … आह्ह्ह.’

ये सुन कर मुझे और मजा आ रहा था और मैं धकापेल उसकी चूत को चोदने में लगा था.

दस मिनट और चोदने के बाद मैंने फिर से उसको बेड पर लेटने के लिए बोला.
वो टांगें फैला कर लेट गई.
मैंने उसकी चूत में फिर से लंड पेला और चोदने लगा.

वो फिर से झड़ने वाली थी और बोलने लगी कि जोर जोर जोर चोदो आह्ह्ह … उह … चोदो मुझे ओह्ह … आह्ह्ह्ह और जोर से चोदो.

मैं पूरी ताकत से अपनी बहन को चोद रहा था.
वो फिर से झड़ गई.

उसका गर्म पानी मेरे लंड से लगा तो इस बार मैं भी अब झड़ने वाला हो गया था.
उससे पूछा- बहन जी, कहां निकालूँ अपना पानी?
वो बोली- अपनी बहन की चूत में गिरा दो.

मैं फुल स्पीड से अपनी बहन को चोदने लगा और उसकी चूत में अपना पूरा पानी गिरा कर उसके ऊपर ही ढेर हो गया.

कुछ देर बाद मेरा लंड अपने आप सिकुड़ कर चूत से बाहर आ गया.

इस मस्त Xxx कजिन सेक्स के बाद मैंने रानी को किस किया तो उसने भी मुझे अपने सीने से लगा लिया.

मैंने अपने फोन में टाइम देखा तो एक बज गया था.
उसके बाद हम दोनों ने थोड़ी देर आराम किया.

थकान ज्यादा थी तो पता ही नहीं चला कि कब हम दोनों को नींद आ गई.

फिर मेरी नींद 5 बजे खुली तो हम दोनों बेड एक दूसरे से लिपट कर रजाई के अन्दर सोए हुए थे.

मैं उसकी चूची को धीरे धीरे दबाने लगा.
इससे वह भी उठ गई और मुझे किस करने लगी.
मैं भी उसका साथ देने लगा.

उसने रजाई को हटा दी तो हम दोनों को ठंड लगने लगी.
फिर मैंने उठ कर रूम हीटर ऑन किया और उसे बेड के पास ले आया.

कुछ ही देर में रूम गर्म हो गया तो हम दोनों ने रजाई को हटा दिया और एक दूसरे से चिपक कर किस करने लगे.

उसके बाद मैं उठ कर उसकी चूत के पास आया,तो देखा कि उसकी चूत और दोनों जांघों में काफी रक्त जमा हुआ था.
मेरे लंड में भी खून लगा हुआ था.

मैं उसको अपनी गोद में उठाकर बाथरूम में ले गया और उसके ब्लड को साफ किया, उसने मेरे लंड में लगे हुए ब्लड को साफ किया.

उसको गोदी में उठाकर मैं बेडरूम में ले आया और बेड में लिटा दिया.
फिर उसके दोनों पैर के बीच में जाकर उसकी चूत को किस करने लगा और चूसने लगा.

वो ‘अंअह … सीइइइ … अअअ …’ करने लगी, बोलने लगी- आंह खा जाओ मेरी चूत को … साली बहुत तड़फाती है अंअह … सीइइ इ … अअअ … और अच्छे से चूसो अंअह!

उसकी कामुक आवाज़ सुन मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा था तो मैंने उससे अपने लंड को चूसने के लिए बोला.
उसने फिर से मना कर दिया.

मैं फिर से उसके दोनों पैर के बीच में आ गया. उसकी दोनों पैर को ऊपर किया और अपने लंड को उसकी चूत में रगड़ने लगा.

रानी गर्माने लगी और बार बार बोलने लगी कि बस अब अन्दर घुसा दो अंअह … सीइइइ!

मैंने एक जोर का झटका मारा और एक ही बार अपना लंड उसकी चूत में घुसा दिया.

वो दर्द से कराह उठी और मुझसे दूर होने की कोशिश करने लगी लेकिन मैंने उसको अच्छे से पकड़ा हुआ था.
मैं रुक गया.

जब उसका दर्द थोड़ा कम हुआ तो मैं अपने लंड को अन्दर बाहर करने लगा.

‘अंअह … सीइइइ … अअअ …’ की आवाज़ कर रही थी.

उसकी गर्म आवाजों से मुझे और जोश आ रहा था. मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी.

कुछ ही पल बाद ‘अंअह … सीइइइ.. अअअ …’ करते करते उसने अपना पानी छोड़ दिया और निढाल हो गई.

मैं फुल स्पीड अपने लंड को अन्दर बाहर करता रहा.

करीब 10 मिनट उसको चोदा और उसके बाद मेरे भी लंड से पानी आने के लिए रेडी हो गया था.

मैंने रानी से पूछा- इस बार पानी कहां लेना है डार्लिंग?
रानी बोली- इस बार भी मेरी चूत में ही गिरा दो. ये साली बहुत भूखी है.

अब ताबड़तोड़ चुदाई होने लगी और हम दोनों का पानी एक साथ आ गया.

हम दोनों झड़ कर निढाल हो गए और चिपक कर सो गए.

फिर मैं सुबह 7 बजे उठा और उसको किस करके उठाया.

हम दोनों ने जल्दी जल्दी कपड़े पहने और रूम से बाहर आ गए.

बाहर देखा कि उसके पापा दुकान जाने के लिए रेडी हो रहे थे और उसकी मम्मी भी स्कूल जाने का लिए रेडी हो गई थीं.

कुछ देर में उसके पापा और मम्मी अपने अपने काम पर चले गए.

हम दोनों ने घर के दरवाजे बंद किए और लग गए.
एक बार फिर से मस्त चुदाई के बाद रानी मेरी तरफ देखने लगी.

वो बोली- मुझे मार्केट से कुछ लेना है, तुम भी साथ में चलना.
मैं- ठीक है.

रानी- जल्दी से दोनों मिल कर कुछ खाना बना लेते हैं, उसके बाद जाएंगे.

फिर हम दोनों मिल कर जल्दी जल्दी खाना बनाया और खाया. फिर दोनों मार्केट जाने के लिए रेडी हो गए.

हम दोनों कार में गए और मार्केट गए. उधर बहुत सारी शॉपिंग की. शॉपिंग करते करते हमें एक बजे गए.

मैं उसको कार मैं बैठा कर बोला कि तुम बैठो, मैं 2 मिनट में आ रहा हूँ.

मैं तुरंत एक मेडिकल स्टोर में गया और वहां से दो पैकेट कंडोम ले लिए और 1 आईपिल ले ली.

उसके बाद हम दोनों एक रेस्टोरेंट में गए और वहां पर खाना खाया.
फिर घर चले आए.

जब घर लौटे तो घर में कोई नहीं था.

मैंने सबसे पहले अपनी बहन को आईपिल खिलाई और उसके होंठों में किस करने लगा.

हमारी चुदाई चालू हो गई.

उसके बाद शाम को उसकी मम्मी स्कूल से आ गईं और पापा भी आ गए.
उन्होंने भी खाना खाया और सो गए.

मैं और रानी अपने रूम में आ गए और सो गए.

जब मैं सोकर उठा और रानी की तरफ देखा तो वो बेड में नहीं थी.
तो मैं समझ गया कि वो उठ कर अपनी मम्मी के पास चली गई है.

उसके बाद मैंने रानी को तीन दिन और तीन रात खूब चोदा. उसके बाद मैं अपने घर आ गया.

फिर 2020 दिसंबर को मौसा मौसी और उनके बेटे की कोरोना में मृत्यु हो गई.

उन सभी के जाने के बाद मैंने अपने घर में बात करके हम दोनों के बारे में बता दिया और हमारी शादी हो गई.

उसके बाद तो हम दोनों का जब मन करता, सुबह शाम रात खूब चुदाई कर लेते हैं.

मेरी शादी से 15 दिन पहले मैं एक लड़की को और चोदा था.
उसके बारे में भी मैं अपनी अगली सेक्स कहानी में बताऊंगा.
उसके साथ मैंने रानी को कैसे चोदा था, वो भी लिखूँगा.

आपको मेरी Xxx कजिन सेक्स स्टोरी कैसी लगी, प्लीज़ मेल करें.
[email protected]

Leave a Comment

Your email address will not be published.