मेरी संस्कारी मॉम सेक्स की प्यासी-3

मेरे जीवन की कामुकता की शुरुआत मॉम सेक्स से हुई. यह पहले दिन का हालत कहानी के रूप में पेश की है. पढ़ें कि मेरी मॉम ने कैसे चुदाई करवायी मुझसे.

कहानी का पिछला भाग: मेरी संस्कारी मॉम सेक्स की प्यासी-2

मेरी सौतेली मॉम मेरे स्तनों को चूस रही थी, निप्पल दांतों से खींच रही थी और दबाए जा रही थी.
फिर मॉम मेरे मुंह पर आ गई और मुझे ज़ोरदार किस देना शुरू कर दिया मेरे होंठों पे, गाल पे, गर्दन पे!

मुझे तो बहुत मज़ा आ रहा था … सपने में भी मैंने ऐसा नहीं सोचा था कि मॉम के साथ यह करने को मौका मिलेगा. मॉम के होंठ तो बहुत रसीले थे, गाल तो चिकने थे.

15 मिनट बाद मॉम का यह किस और चुम्मा चाटी का कार्यक्रम खत्म हुआ. मॉम बहुत गर्म हो चुकी थी लेकिन आज मुझे मॉम की सबसे खास चीज बूब्स से खेलने की छूट नहीं थी. मैं तो मॉम के नंगे बदन को देखकर ही बहुत खुश था. मुझे ऐसा लग रहा था कि स्वर्ग मिल गया है.

फिर मॉम ने गजब ही कर दिया … मॉम मेरे मुंह पर बैठ गई, अपनी चूत को मेरे मुंह पर रख दिया और बोली- बेटा, अपनी मॉम की चूत को चाट कर मॉम को खुश कर दे. मस्त चाट ले!

मॉम ने अपनी गीली चूत को अपने हाथ से थोड़ा चौड़ी किया. फिर मैं अपनी जीभ से मॉम की चूत मस्त चाटने लगा. साथ साथ में होंठों से भी चूत को चूस रहा था. मेरी जीभ मॉम की चूत के अंदर तक जा रही थी.
मेरी सेक्सी मॉम को बहुत मज़ा आ रहा था, वो चीख रही थी- वेरी गुड बेटा … फॅक मी! आह आह आई ऊह करते रहो!

मॉम की चूत का थोड़ा पानी मेरी मुंह में आ रहा था. पानी मॉम की तरह मीठा और स्वादिष्ट था. 2-3 बार मैंने जोश जोश में मॉम की चूत हल्की सी काट ली.
तब मॉम चिल्लाई- नहीं नहीं नहीं … मर गई आह आई ओह!
फिर मैंने मॉम को बोला- सॉरी मॉम, गलती से हो गया.
मॉम बोली- कोई बात नहीं बेटा … मुझे अच्छा लगा. सेक्स में दर्द का ही तो मजा होता है. फिर भी तू बहुत जेंटलमैन जैसे ही चाट रहा है. तेरे पापा तो … बाप रे बाप!

मैं बोला- बताओ ना मॉम … सेक्स कैसे करते थे आपके साथ पापा?
मैं अपनी मॉम की चूत को लगातार चाट रहा था और मेरी जीभ बराबर चूत को खोदे जा रही थी.
बात भी चल रही थी.

मॉम बोली- तेरे पापा तो मेरी चूत को बहुत चौड़ी कर लेते हैं, फिर अपना मुंह डालकर बहुत काटते हैं दर्द बहुत होता तो मज़ा भी आता है. तेरे पापा अपनी उंगली से ही मेरी चूत को खुश कर देते थे, उंगली से ही खुदाई कर देते थे. मेरी चूत को दर्द भी बहुत होता था और में चीखती भी बहुत थी लेकिन वो कभी नहीं रूकते थे।

मैं बोला- आप पापा को मना क्यों नहीं करती थी?
मॉम बोली- बेटा, सेक्स जैसी चीजों में यह होता रहता है और तेरे पापा मुझे प्यार भी बहुत करते हैं. वे सैक्स में भी मुझे पूरी तरह खुश कर देते हैं.

फिर मॉम बोली- बेटा अब चूत चाटने का प्रोग्राम खत्म करते हैं. अब मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा है. तू अब अपना लन्ड मेरी चूत में डाल के चोद ले!

मैं बेड पर बैठ गया और बोला- मॉम, सेक्स कौन सी पोजिशन में करूँ?
मॉम बोली- बेटा, आज तो सीधा सरल पोजिशन में ही कर ले, बाकी कल से सभी पोजीशनों में करेंगे.

फिर मॉम सेक्स के लिए बेड पर सीधी लेट गई और अपनी टांगों को सीधा कर दिया. मॉम बहुत भरी भरी थी तो उनकी चूत काफी उठी उठी दिख रही थी.
अब मॉम बोली- बेटा, तेरा पहली बार है यह … तो तू अपने लन्ड को अंदर बाहर धीरे धीरे करना, ज्यादा तेज शॉट आज मत मारना.
मैं बोला- ओके मॉम!

फिर मैंने अपना लन्ड मॉम की चूत में डालना शुरु कर दिया.
मॉम की आवाज निकली- उम्म्ह… अहह… हय… याह…
मेरा लन्ड पूरा मॉम की चूत घुस रहा था लेकिन मॉम की चूत एकदम वर्जिन जैसी टाईट थी. ऐसा लग रहा था कि मॉम सेक्स पहली बार कर रही हों, उनकी पहली चुदाई हो रही हो. ऐसा बिल्कुल भी नहीं लग रहा था कि पापा मॉम के चूत को भोसड़ा बना दिया हो.

मैं बोला- मॉम, आपकी चूत तो एकदम टाइट और फिट है. मैंने तो इंटरनेट पर पढ़ा था कि औरतों की चूत शादी के बाद ढीली ढाली और चौड़ी हो जाती है और लन्ड डालने वाले को मज़ा नहीं आता है लेकिन आपकी चूत तो बहुत टाइट और वर्जिन लगती है.
मॉम बोली- बेटा, यह मेरी योगा और एक्सरसाइज का कमाल है और साथ में कुछ क्रीम भी लगाती हूं जिससे चूत हमेशा टाईट रहे. नहीं तो तेरे पापा मेरी जितनी चुदाई करते थे दिन रात तो अब तक मेरी यह चूत, चूत नहीं भोसड़ा या बड़ा समुन्दर बन चुकी होती. और तेरे पापा को भी चोदने में मज़ा नहीं आता.

मैं बोला- मॉम आप ग्रेट और बुद्धिमान हो.
मॉम बोली- बेटा, तेरा लन्ड तो पूरा मेरे चूत में जा रहा है. तेरे पापा का जाता ही नहीं! काफी बड़ा और मोटा है उनका!

मैंने अपना लन्ड मॉम की चूत में अंदर बाहर करना शुरू कर दिया. मॉम को बहुत मज़ा आ रहा था. वे हल्की सी आवाज भी कर रही थी- ऊ ओ ओ ओ मा!
और मॉम अपना एक हाथ अपने ही बूब पर रख कर दबाने लगी.

फिर मैंने मॉम के दोनों हाथों को पकड़कर बेड रख दिया और बोला- मॉम, अपने बूब्स को मत छेड़िए, फिर दर्द होगा.
मॉम बोली- हां बेटे … क्या करूँ … आज बहुत दिन बाद मजा आ रहा है. तेरे पापा के जाने बाद आज मेरी प्यास बुझ रही है इसलिए उत्तेजना के मारे अपना बूब्स दबा रही हूँ.
मैं बोला- मॉम आगे से मैं रोज आपको खुश करता रहूंगा.

और मैं लगातार मॉम को चोदे जा रहा था. हम बातें भी कर रहे थे और माँ बेटे की चुदाई भी चालू थी. मुझे भी मज़ा आ रहा था और मॉम को भी!
फिर वो बोली- बेटे कल से ये मेरे खरबूजे जैसे बूब्स भी तेरे हो जाएंगे, जैसा तू चाहे वैसा करना.

मैं बोला- थैंक्स मॉम!
फिर मैंने मॉम के होंठों पे ज़ोरदार किस किया, मॉम के पूरे दोनों होंठों को पूरा चाट लिया.
मॉम को बहुत मज़ा आया, मॉम बोली- बेटा, तू बहुत जेंटलमैन है सैक्स के मामले में … बहुत सही तरह से करता है. नहीं तो कोई और होता तो मेरी जैसी हॉट और सेक्सी औरत की चूत को चोदकर फाड़ डालता.

मेरा चोदना चालू था. ना मॉम झड़ रही थी … ना मैं … हम दोनों माँ बेटा सेक्स में घोड़ा घोड़ी बने हुए थे.
मैं बोला- मॉम, पापा कितनी बार करते थे?
मॉम बोली- तेरे पापा का तो कितनी बार तो पूरी रात तक प्रोग्राम चलता था. जब नींद आने लगती तब वो रूकते थे. और दिन में तू तो बाहर होता था तो हम लोग ड्राइंगरूम में भी करते थे, किचन में भी और बाथरूम में तो करते ही थे, नहाते भी साथ में ही थे.

मैं बोला- वाउ मॉम, मस्त और रंगीन जिंदगी थी ना आपकी पापा के साथ!
मॉम बोली- हां बेटे, तभी तो उनके जाने के बाद में बहुत निराश और दुखी हो गई. मुझे सेक्स की आदत पड़ गई है. फिर मैं इन सेक्स टॉयज से ही अपना पानी निकालने लग गई.

मैं बोला- मॉम, अब चिंता की कोई बात नहीं है, मैं खुश कर दूंगा आपको!
मॉम बोली- हां बेटे, अब मेरी जिंदगी में वापस खुशियाँ गई हैं. कल तो तेरे पापा से वीडियो कॉलिंग बात हुई थी, उस कॉलिंग से मैंने पानी निकाला.

मैं बोला- कैसे मॉम?
मॉम बोली- तेरे पापा और मेरी रोज बात होती है, कल मैं थोड़ा दुखी दिख रही थी तो उन्होंने बोला कि सीमा दुखी मत हो. क्या करें मजबूरी है काम की. ऐसे भी कुछ महीनों बाद आ ही रहा हूं. फिर एक बड़ा और लम्बा हनीमून के लिए यूरोप निकल जाएंगे.
मैं बोला- गुड मॉम!

फिर मॉम बोली- फिर तेरे पापा ने वीडियो कॉलिंग से मुझे नंगी होने को बोला और खुद भी नंगे हो गए. मैंने अपनी चूत में टॉयज वाला लन्ड डाला और तेरे पापा ने चूत के टॉय में अपना लन्ड! और फिर शॉट लगाते रहे. और आखिर में हम दोनों को संतुष्टि मिली.
मैं बोला- गुड मॉम!

फिर मॉम बोली- बेटा, अब मैं झड़ने वाली हूं. अपना मुंह मेरी चूत में डाल दे और सारा पानी पी लेना.
मैंने अपना लन्ड मॉम की चूत से निकाला और अपना मुंह चूत पर चिपका दिया और धड़ाधड़ मॉम की चूत से पानी निकलने लगा. मैंने सारा पानी पी लिया. पानी बहुत ही स्वादिष्ट था.
मैं मॉम को बोला- मैंने आपकी चूत का सारा पानी पी लिया, बहुत टेस्टी है.
मॉम बोली- थैंक्स बेटा, तेरे पापा भी यही कहते हैं.

फिर मैं बोला- मॉम, मैं अभी झड़ नहीं पा रहा हूं और थक भी गया हूं.
मॉम पलंग से उठकर बोली- बैठ, मैं बाथरूम में सूसु करके आती हूं.

मॉम बाथरूम में मूत कर वापस आई और बोली- मैं तुझे अभी झड़ा देती हूं.
फिर वो फ्रिज से आइस क्रीम लाई और बोली- मैं अभी उल्टी लेटूंगी और तू यह आइस क्रीम मेरी दोनों गान्ड पर और गान्ड के छेद पर अच्छी तरह से लगा लेना. और फिर वो ड्रेसिंग टेबल पर पीले रंग की बोतल में से तेल अपने लन्ड के आगे हिस्से से पीछे तक अच्छी तरह से लगा ले, फिर अपना लन्ड मेरी गान्ड में डाल दे. इससे मेरी गान्ड मारने का प्रोग्राम भी पूरा हो जाएगा।

मैं बोला- मॉम, आपकी गान्ड का छेद छोटा है, मेरा लन्ड कैसे जाएगा इसमें … और आपको दर्द बहुत होगा.
मॉम मेरे गाल पर और होंठ पर चुम्मा करके बोली- मेरे प्यारा बेटा, तू बहुत अच्छा है, तुझे अपनी मॉम को बहुत चिंता रहती है. मैं बहुत खुश हूं. लेकिन तेरा लन्ड यह तेल लगाने के बाद मेरी गान्ड में आराम से घुस जायेगा. दर्द तो होगा लेकिन मज़ा भी आएगा. तेरे पापा का तो 8 इंच का अंदर जाता ही है.
मैं बोला- ओह मॉम, पापा बड़े स्वार्थी हैं, वो अपने सुख के लिए आपको दर्द देते हैं.
मॉम बोली- बेटा, चलता है. अब तू जल्दी कर … नहीं तो आइसक्रीम पिघल जाएगी.

फिर मॉम उल्टी लेट गई गान्ड मेरी तरफ करके!

मॉम की गान्ड तो क्या गान्ड थी … पोर्न वीडियो में नहीं देखी ऐसे मोटी चोड़ी गोरी और एकदम चिकनी गान्ड!
मेरा मन तो हो रहा था कि मैं मॉम की गान्ड को खा जाऊं. लेकिन मैंने मॉम की गान्ड पर आइस क्रीम अच्छी तरह से लगाई और वो तेल मैंने अपने लन्ड पर लगाया. फिर मैं मॉम की गान्ड की आइसक्रीम को चाटने लग गया.

मज़ा आ रहा था मॉम को भी … क्योंकि आइस क्रीम बहुत ठंडी थी. मैंने पूरी आइस क्रीम खत्म कर दी.
अब गान्ड का छेद देखा.

फिर मॉम ने बोला- मेरी गांड के छेद को अपने हाथ से थोड़ा चौड़ा कर दे. फिर अपना लन्ड डाल दे.

मैंने माँ की गांड चौड़ी करके अपने लन्ड डाला. उस तेल की वजह से मेरा लन्ड एकदम चिकना हो गया था, मेरा पूरा लन्ड माँ की गांड में चला गया और मॉम चीखी चिल्लाई- ओह आ ये उई!
फिर मैंने शॉट मारना शुरू कर दिया. मुझे मज़ा आ रहा था लेकिन मॉम को दर्द हो रहा था.

मैं मॉम को पूछ रहा था- मॉम, आप ठीक हो ना?
मॉम बोली- बेटा, आई एम फाइन! बेटा चालू रखो. दर्द के साथ मज़ा भी आता है. तेरे पापा तो 5-5 मिनट तक अपना लन्ड बाहर ही नहीं निकालते थे. तब कितना दर्द होता होगा. तू चालू रख!

मैं अपना लंड माँ की गांड में अंदर बाहर करता रहा. मेरा लन्ड छोटा होने की वजह से मॉम को दर्द कम और मज़ा ज्यादा आ रहा था. मेरी माँ की गांड भी बहुत फिट और कड़क थी एकदम चूत की तरह!
मॉम योगा भी करती थी और एक्सरसाइज और क्रीम का उपयोग करती थी इसलिए हमेशा फिट ही रहती थी.

10 मिनट तक माँ की गांड मारने के बाद मेरे लन्ड में दर्द शुरू हो गया था, मैं झड़ने वाला था.
मैंने मॉम को बोला- मॉम, मैं झड़ रहा हूं.
फिर वो सीधे लेट गई और बोली- तेरा वीर्य मेरे मुंह में डाल दे.

मैंने अपना लन्ड मॉम के मुंह में डाल दिया और मेरा पूरा वीर्य मॉम के मुंह में चला गया. मॉम ने सारा पी लिया और बोली- बेटा, तेरा वीर्य तो बहुत मस्त था रबड़ी जैसा था. क्योंकि तू एकदम वर्जिन और शुद्ध है. तेरे पापा का तो बेस्वाद होता है लेकिन मजबूरी में पीना पड़ता है.

फिर मॉम बोली- बेटा, तूने खुश कर दिया, आज तूने मेरी मस्त चुदाई की.

मॉम सीधे मुंह नंगी ही बेड पर लेट गई और मैं बाथरूम चला गया और अपने लन्ड को अच्छी तरह से धोकर आ गया.

अब तक मॉम थक गई थी और मैं भी! मैं बोला- मॉम, मैं अपने रूम में सोने जा रहा हूं.
मॉम बोली- आज से तू इधर ही सोएगा मेरे साथ … जब तक तेरे पापा नहीं आते.
मैं बोला- ओके मॉम, जैसी आपकी आज्ञा!

तब मैं नंगा ही मॉम के बाजू में लेट गया और मॉम भी नंगी ही लेट गई. फिर मॉम मेरे नंगे बदन से चिपक कर सो गई और मैं भी सो गया.

और इस तरह मेरे जीवन की कामुकता की शुरुआत मॉम सेक्स से हुई. यह पहले दिन का हालत कहानी के रूप में पेश की है. इसके बाद क्या क्या हुआ कैसे हुआ. सब कुछ कहानी के रूप में और नए टाइटल के साथ पोस्ट करूंगा. आगे भी आप सभी दोस्तों को बहुत मज़ा आएगा.

दोस्तो, मेरी माँ की चूत गांड की चुदाई कहानी कैसी लगी? मुझे जरूर बताइएगा. मेरी यह मॉम सेक्स कहानी सत्य घटनाओं पर आधारित है, मैंने सिर्फ पात्रों के नाम बदले हैं.
[email protected]

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *