मेरी मॉम का सहेली के साथ लेस्बियन सेक्स- 2

मॉम लेस्बो सेक्स कहानी मेरी मम्मी और उनकी ख़ास सहेली के बीच समलैंगिक यौन सम्बन्ध की है. एक रात मैंने खुद दोनों को नंगी होकर लेस्बियन सेक्स करते देखा.

फ्रेंड्स, मैं शबनम आपको अपनी मॉम की लेस्बियन सेक्स कहानी सुना रही थी.
कहानी के पहले भाग
मेरी माँ अपनी सहेली की चूची चूस रही थी
में अब तक आपने पढ़ा था कि मेरी मॉम अपनी फ्रेंड जेनीका आंटी के साथ लेस्बियन सेक्स का मजा ले रही थीं.

अब आगे मॉम लेस्बो सेक्स कहानी:

मॉम ने आंटी की बिकिनी वाली पैंटी पर हाथ रखा और पैंटी के ऊपर से ही हाथ घुमाने लगीं.

आंटी कामुक सिसकारियां लेने लगीं- आअह हाऊम्म उफ फ्फ़ मार डालेगी डार्लिंग बेबी … कम ऑन फक मी.

मॉम ने आंटी की पैंटी के अन्दर हाथ डाल दिया और आंटी की चूत को रगड़ने लगीं, धीरे से कमर से पीछे हाथ डाल कर पैंटी के अन्दर घुसा दिया.
वो आंटी के सुडौल टाइट बड़े चूतड़ों को मसलने लगीं, दबाने लगीं.

अब आंटी की हालत खराब होने लगी थी. वो ज़ोर ज़ोर से हांफ रही थी.

मॉम ने एक झटके से आंटी की पैंटी उतार दी.
चूंकि पैंटी टाइट और छोटी सी थी तो पैंटी उतरते ही रोल होकर एक जरासी पट्टी सी बन गयी थी.

अब मुझे आंटी की चिकनी शेव्ड सफेद चूत साफ़ साफ़ दिखने लगी थी.

उनकी जांघें उफ्फ़ क्या बताऊं … पूरी मक्खन सी सफेद, सुडौल, एकदम चिकनी चमकीली थीं.

जेनीका आंटी पार्लर चलाती है, तो वो अपने शरीर पर स्किन शाइन क्रीम लगाती है ताकि उसका पूरा बदन चमकता रहे.

अब मॉम धीरे धीरे उसकी चूत और जांघों पर उंगलिया फेरने लगीं.
आंटी इससे और उतेज़ित हो गईं.

उसने मॉम का हाथ पकड़ कर अपनी चिकनी मुलायम चूत पर रख दिया और मादक आवाज में कराहने लगी- अहहा … आहह डार्लिंग बेबी … मज़ा आ रहा है.
मॉम ने उसकी चूत के गुलाबी होंठों पेर हाथ फेरा और चूत मसलने लगीं.

ये देखकर मेरी और आंटी की दोनों की हालत खराब होने लगी.
मेरी चूत के अन्दर भी हल्की सुरसुराहट होने लगी, एक अजीब सी सिहरन और मज़ा भी आने लगा था.

धीरे से मॉम ने अपनी एक उंगली आंटी की चूत में घुसा दी.
इससे आंटी तड़प उठी. वो ऊफ्फ़ आआह करने लगी.

मॉम ने दूसरी भी उंगली भी चूत में पेल दी और अन्दर बाहर करने लगीं.
मॉम की उंगलियां आंटी की चूत के गर्म पानी से गीली हो चुकी थीं और फच फच की आवाज़ को मैं सुन रही थी.

अब मॉम ने स्पीड बढ़ा दी और तेजी से अपनी उंगलियां अन्दर बाहर करने लगीं.
वो दोनों ही हांफने लगी थीं.

इतने में आंटी के मुँह से अजीब सी सिसकारियां और मादक आवाजें निकलने लगीं. उसने अपनी गांड उछालना शुरू कर दी.

ये मेरे लिए तब नया था कि आंटी क्यों उछल रही है और उसका पूरा बदन क्यों अकड़ सा गया था.

मगर मेरी मॉम समझ गयी थीं कि जेनीका आंटी अब झड़ने वाली है.

मॉम ने तुरंत आंटी को बेड पर चित लिटा दिया और टांगें बेड के नीचे नीचे कर दीं. मॉम खुद ज़मीन पर बैठ गईं और आंटी की टांगें खोल कर अपना मुँह उसकी चूत में लगा दिया.
इससे आंटी एकदम से सिहर उठीं और उसने जोर से मॉम का सिर अपनी चूत में दबा लिया.

वो आआहह ऊओह करने लगी.

मॉम ने आंटी की चूत चाटनी शुरू कर दी और स्पीड से अपनी जीभ चूत के अन्दर बाहर करने लगीं.

आंटी ज़ोर ज़ोर से सांसें लेने लगी और अजीब सी आवाजें निकालने लगी.
वो बोली- ऊवऊ ययएस बेबी फास्ट फास्ट … मैं आने वाली हूँ.

मेरी मॉम ने और स्पीड बढ़ा दी.
उनकी जीभ अन्दर बाहर चलने से आंटी की पूरी चूत गीली हो गयी थी.

तभी अचानक से आंटी ने ज़ोर से आवाज निकाली- आआयय गयई मैं!

ये कहते हुए जेनीका ने अपनी कमर को दो तीन झटके दिए, फिर वो शांत हो गयी.

उसने मॉम का सिर अपनी चूत में ज़ोर से दबा दिया और बोली- आंह थैंक्यू बेबी … तुमने मुझे वो सुख दिया, जो एक मर्द नहीं दे सकता. मैं बहुत दिन से प्यासी थी … आज तुमने पूरी बुझा दी.
मेरी मॉम ने पूरी चूत चाट ली.

जेनीका आंटी की चूत अब और ज्यादा फूली और गीली मस्त मस्त लग रही थी.

मॉम खड़ी हो गईं और उन्होंने आंटी को उठा लिया.
दोनों खड़ी होकर एक दूसरे से चिपक कर हग करने लगीं.

आंटी के बड़े थन मॉम के मम्मों से चिपक गए थे.
मॉम ने आंटी से कहा- अपना मुँह खोलो.

जेनीका ने मुँह खोला, तो मॉम ने अपनी जीभ आंटी के मुँह में डाल थी और हलक तक अन्दर घुसा दी.
मॉम की जीभ पिंक सॉफ्ट लंबी ओर रसीली थी.
अन्दर जाते ही आंटी मॉम की जीभ चूसने लगी.

चूसते चूसते ही आंटी ने मॉम का ब्लैक लेस वाला शॉर्ट गाउन उतार दिया.
अब मेरी मॉम क्या कयामत लग रही थीं. ब्लैक लेस वाली ब्रा-पैंटी में मॉम के आधे बूब्स बाहर तने हुए थे.
उनकी काली लेस वाली ब्रा में सफेद दूध जैसे दूर से चमक रहे थे.

मॉम ने भी एक दिन पहले अपना मेनीक्योर पैडीक्योर और फुल बॉडी का वॅक्स करवाया था.
वो बहुत हॉट लग रही थीं.

आंटी ने घूमकर पीछे से मॉम को टाइट हग किया. उसके बड़े कड़क बूब्स अब मॉम की चिकनी सफेद पीठ से चिपके थे.

आंटी के दोनों हाथ मॉम के 36डी नाप के मम्मों को मसलते हुए दबा रहे थे.

मेरी मॉम सिसकारियां लेने लगीं- आआहह बेबी जेनीका दबाओ बूब्स को … और ज़ोर से लव यू बेबी.
फिर आंटी ने पीछे से मॉम की ब्रा का हुक खोला और ब्रा अलग कर दी.

अब मॉम के बड़े कड़क शार्प बूब्स नाइट लाइट में मस्त लग रहे थे, बहुत कड़क हो गए थे.
मॉम की चूचियों के निप्पल भी पिंक हैं, वो एकदम तनकर खड़े थे.

आंटी ने अब धीरे से मॉम की पैंटी के अन्दर हाथ घुसा दिया और सीधे चूत पर उंगली फेरने लगी.
मॉम कराह उठीं- उउऊयई बेबी … क्या कर रही हो … मर जाऊंगी.

आंटी ने पैंटी के अन्दर से मॉम की चूत को धीरे धीरे मसलना शुरू कर दिया.

मॉम भी पूरे नशे में थीं और अपनी चौड़ी गांड से पीछे से आंटी को धक्के मार रही थीं.
आंटी समझ गयी कि मेरी मॉम भी एकदम रेडी हैं और पूरी गर्म हो चुकी हैं.

आंटी ने पैंटी में हाथ डाल रखा था. मॉम की पैंटी गीली थी.

आंटी बोली- हाय बेबी मेरी जान … तेरी चूत तो गीली हो गयी ओर बहुत गर्म भी है. आग जैसी तप रही है.
ऐसा बोलते हुए उसने एक झटके से मॉम की पैंटी उतार दी.

अब मेरी मॉम पूरी तरह से नंगी थीं.
उनकी शेव्ड चिकनी चूत दूर से ही मस्त लग रही थी.

दोनों को ऐसे करते देख कर यहां मेरी हालत धीरे धीरे खराब होने लगी थी.
फर्स्ट टाइम मैंने अपने छोटे नाप के समोसे जैसे मम्मों पर अपने हाथ रख लिए थे.
मैं सिहर उठी थी, मेरे बूब्स और निप्पल कड़क हो गए थे.

मेरे बूब्स उन दोनों के मुकाबले अभी काफी छोटे थे.
मुझे एक अद्भुत मज़ा आने लगा था.

जैसे ही मैंने अपने मम्मों पर हाथ रखा, तो मेरा पूरा बदन आग जैसे तपने लगा था.
मुझे समझ नहीं आया था कि ये मेरे साथ क्या हो रहा है.

ऐसा करते करते काफी समय बीत गया था.
अब मैं खड़ी खड़ी थक गयी थी, तो मैंने बिना शोर किए बगल से कुर्सी उठाई और ग्लास डोर के बाजू में छुपकर बैठ गई और उन दोनों का सेक्स देखने लगी.

अब मेरी मॉम भी आंटी को पूरा साथ दे रही थीं.
आंटी मॉम के दोनों मम्मों को पीछे से पकड़े हुई थीं और उनको मसल रही थीं. आंटी ने मॉम के दोनों निप्पल एक साथ मरोड़ दिए.

इससे मेरी मॉम उछल पड़ीं- आआह जेनीका लव यू … मुझे और मस्त करो … मज़ा आ रहा है.

अब आंटी ने दोनों पिंक निप्पलों को मसलना शुरू कर दिया और होंठों से मॉम के कानों को बारी बारी से चूसने लगी.

मॉम सिहर उठीं और अजीब से आवाजें निकालने लगीं.

आंटी ने धीरे से मॉम के कान को काटा और खींच दिया.
मॉम- आह ईयसस्स ईसस्स डू इट जेनी …

आंटी ने फिर पीछे से मॉम को गले पर क़िस किया और अपनी जीभ से चाटने लगी.

जेनीका ने मॉम की चिकनी गद्देदार पीठ पर किस की और चाटने लगी.

अभी तक दोनों खड़ी हुई थीं और ये सब कर रही थीं.

अब आंटी थोड़ा और नीचे झुक गई और मॉम की कमर को चाटने लगी.
मॉम उछल रही थीं और उनके मुँह से मादक चीखें निकल रही थीं- उऊययई जेनीका … मार देगी क्या आआह सच में मज़ा आ रहा है.

आंटी ने पूरी जीभ से कमर और सुडौल टाइट मिल्की हिप्स को चूसना शुरू कर दिया, बीच बीच में हल्के हल्के से वो मॉम के हिप्स को काट भी रही थी.

मेरी मॉम को और भी ज्यादा मज़ा आ रहा था.
आंटी ने झुककर मॉम के दोनों हिप्स के बीच की दरार में जीभ लगा दी और ऊपर से नीचे तक चाटने लगी.

मॉम इस काम से एकदम से सिहर गईं और बोलीं- इस्स और चूस मेरी जान … मजा आ गया आज तो!
आंटी की लार से मॉम की गोरी गांड गीली हो गई थी.

तब आंटी ने मॉम को बेड पर घोड़ी बना दिया और खुद नीचे बैठकर मॉम की चूत चाटने लगी.

मॉम उछलती हुई लंबी लंबी सांसें लेने लगीं- आआहाअ आहाअ मज़ा आ रहा है जेनीका डार्लिंग यू आर एन एक्सपर्ट सक मी.

नीचे से आंटी लगातार मॉम की चूत में अपनी गाढ़ी लार वाली जीभ अन्दर डाल कर चूसने में लग गई.

आंटी की जीभ काफी अन्दर चली गई थी, इससे मेरी मॉम चिल्ला उठीं- उऊयऊ बेबी क्या कर दिया … मेरी चूत में गर्म गर्म टेस्टी जीभ पेल दी … आहआआ अब बस ज़ल्दी कर दे.

मॉम की चूत की गुलाबी फांकों को आंटी ने चूसना चालू कर दिया; मॉम के दाने को भी चूसने लगी.

अब मॉम अपने आपे से बाहर हो गई थीं, वो अपनी गांड नचाने लगीं और गांड उछालने लगीं.

मॉम ने आंटी के सिर को अपनी दोनों चिकनी जांघों में जकड़ लिया और आंटी जीभ अन्दर बाहर करने में लगी रही- यस यस डू फास्ट बेबी जेनीका आई एम रेडी टू कम …मैं अब झड़ने वाली हूँ जेनीका … जल्दी करो.

आंटी ने अपने सिर की स्पीड बढ़ा दी और अपनी जीभ चूत में अन्दर बाहर करने लगी.

उसी वक्त अचानक से मॉम ज़ोर से धक्के मारने लगीं और बोलीं- आंह मैं झड़ गयी मेरी बेबी … आहाआअ.

मॉम की चूत का गर्म टेस्टी पानी आंटी दिल से पीने लगी. आंटी का मुँह और मॉम की चिकनी चूत दोनों रस से पूरे गीले थे.

आंटी ने चूत का पूरा रस पिया, जीभ को अपने मुँह पर चारों ओर फेरा और सब मलाई चाट ली. आंटी ने मॉम की चूत भी पूरी चाट कर उसको साफ़ कर दिया.

लेस्बो सेक्स के बाद अब मॉम निढाल हो चुकी थीं. वो बेड पर लेट गईं.
इधर जेनीका ऊपर आई और मॉम के ऊपर चढ़ गई.

दोनों बुरी तरह से थक गयी थीं.
इधर मेरी हालत भी बुरी थी, पता नहीं कब मेरा हाथ मेरी चूत पर चला गया और पैंटी के बाहर से ही मैं अपनी चूत से खेलने लगी.

मॉम और आंटी दोनों के शरीर आपस में चिपके थे. दोनों के बड़े भरावदार बूब्स एक दूसरे से चिपके थे और वो दोनों आपस में किसिंग कर रही थीं.
शायद वो दोनों धीरे धीरे कुछ बोल भी रही थीं, जो मुझे सुनाई नहीं दिया.

अब मॉम और आंटी वॉशरूम जाने के लिए बेड से उठीं.
मैं डर के मारे भागी और अपने बेड पर उल्टी होकर सोने का नाटक करने लगी.

मॉम वापस आईं और कपड़े पहन कर मेरे पास आ गईं. उन्होंने मेरे सिर पर हाथ घुमाया और चली गईं.

अब वो दोनों बेड पेर एक दूसरे से लिपट कर सो गईं.
दोस्तो मेरी नींद खराब हो गयी थी. मैं रात भर नहीं सो पाई. सुबह कब नींद आई, पता नहीं चला.

ये थी मेरी रियल फर्स्ट सेक्स कहानी, जो मैंने आपके साथ साझा की.

अब तो मैं 31 साल की हूँ. मैंने लाइफ में सेक्स के बहुत मज़े किए. आपके साथ टाइम मिला तो जरूर मजे करूंगी.

मेरी पहली सेक्स कहानी आपको कैसी लगी, आप मॉम लेस्बो सेक्स कहानी पर कमेंट ज़रूर करना. मैं अपनी मेल आईडी भी यहां लिख रही हूँ. आप मुझे डाइरेक्ट मेल कर सकते हैं.
[email protected]

Leave a Comment

Your email address will not be published.