मेरी बहन की चूत को लंड की कमी नहीं- 2

यंग Xxx चुत स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी छोटी बहन को तीन लड़कों से एक साथ चुदाई करवाती देखा. उसने खुद लड़कों को उकसाया था इस सेक्स के लिए!

हैलो फ्रेंड्स, मैं दीपक यादव एक बार फिर से आपको अपनी बहन की चुदाई की कहानी में मजा देने आ गया हूँ.

अब तक की यंग Xxx चुत स्टोरी
मेरी चालू बहन की चूत लंड मांगे मोर
में आपने पढ़ा था कि मेरी बहन रेणु ने मामा जी की शादी में आए हुए तीनों लड़कों से चूत चुदवाने की बात मान ली थी और उसने उन सभी को पीछे बनी दालान में रात को बुला लिया था.

अब आगे यंग Xxx चुत स्टोरी:

मामा के घर के पीछे एक दालान बनी थी, जिसमें आलू प्याज की फसल आदि सब रखते थे.
चूंकि वह शादी का समय था, तो वह खुला ही रहता था.

फिर उन सभी ने वापस आकर खाना आदि खाया.

मैं कुछ जल्दी ही दालान में आ गया. मैंने देखा कि वो जगह तो सही थी लेकिन मैं अपनी बहन की चुदाई कैसे देखता.
पूरी दालान खुली थी.

मैंने चारों ओर देखा तो वहां छुपने के लिए कुछ जगह नहीं थी. फिर मैंने देखा कि ऊपर टांड बनी था. वहां भी सामान रखा था.

मैं किसी तरह उस पर चढ़ कर बैठ गया और खुद को एक सामान की बोरी के पीछे छिपा लिया.
अब मैं इन्तजार करने लगा.

जैसे 12 बजे, वो तीनों आ गए. उन्होंने वहां सफाई की.

मुझे समझ आ गया कि आज यहां मेरी बहन की जबरदस्त चुदाई होने वाली है.

वो उधर बैठ कर मेरी बहन के आने का इंतजार करने लगे.

करीब 12:50 पर मेरी बहन आ गयी.
उसने तीनों से कहा- इसके बाद मेरी वीडियो डिलीट कर देना.

एक लौंडे ने कहा- हां हां कर देंगे मेरी जान … पहले हमारा काम तो कर दो. उसके बाद तुम्हारा काम भी चौकस कर देंगे.

दूसरे ने कहा- जरा माल तो दिखाओ रानी … क्या क्या माल है तेरे पास!
मेरी बहन इठला कर बोली- साले माल देख कर बेहोश हो जाओगे.

ये कह कर मेरी बहन ने जल्दी से अपना ब्लाउज निकाल कर दूर फैंक दिया.
उसकी नंगी चुचियां हवा में फुदकने लगीं.

एक लड़के ने उठ कर उसे अपनी गोद में खींचा और उसकी एक चूची को पीने लगा.

मेरी बहन आह आह करने लगी.

तभी दूसरे लड़के ने उसके लांचा का नाड़ा खोल कर खींच दिया जिससे वो एकदम नंगी हो गयी.

तभी तीसरे ने अपने लंड को मेरी बहन के मुँह में डाल दिया और चाटने को कहा.

मेरी बहन मना करने लगी.

उसने कहा- साली लंड खोर रंडी, चाट न लंड … बहन की लौड़ी क्यों नखरे कर रही है.

मेरी बहन को शायद खुद से लंड चाटने का मन था मगर वो जरा नाटक कर रही थी.

जब लड़के ने उससे कहा तो वो एकदम से खुलकर लंड चाटने लगी.
उसकी लंड चुसाई से साफ़ समझ आ रहा था कि मेरी बहन को लंड चाटने का ख़ासा अनुभव था.

अब तक वो सभी नंगे हो गए थे और सभी के लंड बड़े बड़े थे.

तभी एक लौंडे ने मेरी बहन की चूत में उंगली डाली तो वो आ आ करने लगी.

फिर जैसे ही एक ने मेरी बहन को लिटा कर चुदाई की पोजीशन में लिया और लंड चूत में डाला तो वो कराहने लगी.

तभी एक ने उसके मुँह में लंड डाल दिया और अब मेरी बहन की चूत और मुँह दोनों तरफ से चुदाई होने लगी.

जल्दी ही फच फच की आवाज़ आने लगीं.

कुछ ही मिनट में पहला वाला लड़का मेरी बहन को चोदने के बाद झड़ने हो गया और उसने बहन की चूत में ही अपना सारा माल गिरा दिया.

अब दूसरे लड़के ने बहन की चूत को फैलाया और अपना लंड पेल दिया.

मेरी बहन आह आंह करती हुई मस्ती से चूत चुदवा रही थी. शायद उसको ज़्यादा दिक्कत नहीं हो रही थी.

उसी बीच लड़के ने उसे अपनी छाती पर ले लिया और उनकी चूत में लंड पेलने लगा.

इससे उसकी गांड खुल गई थी. पीछे से एक दूसरे लौंडे ने मेरी बहन की गांड में लंड पेल दिया.

बहन को जब तक समझ आता, तब तक तो लंड गांड में हरकत करने लगा था.

वो तेज स्वर में आह आह कर रही थी तो तीसरे लौंडे ने मेरी बहन के मुँह में लंड पेल दिया.

इस तरह से सभी तीनों लड़कों ने मेरी बहन की चूत गांड और मुँह की चुदाई की.

अभी वो सब चुदाई करने के बाद आपस में हंसी ठिठोली कर रहे थे.
मेरी बहन उन्हें बता रही थी कि उसने तो शादी में आते ही मन बना लिया था कि तुम तीनों से अपनी चूत चुदाई का मजा लूंगी.

अभी वो सब यही बातें कर रहे थे कि तभी किसी ने दरवाजा ख़टखटा दिया.

दरवाजा खटखटाने की आवाज सुनकर सब चुप हो गए.
लेकिन उठ कर कोई नहीं जा रहा था.

तभी बाहर से किसी ने आवाज़ दी- दरवाजा खोलो, सामान लेना है.

सब जल्दी जल्दी कपड़े पहनने लगे.

फिर जब एक लड़के ने दरवाजा खोला तो देखा कि एक हट्टा-कट्टा आदमी आया हुआ था.

ये मामा के घर के बगल में रहता था.
वो एक फौजी था.

उसको देखते ही तीनों लड़के भाग गए.

फौजी ने मेरी बहन से उसने पूछा कि यहां क्या हो रहा था?
उसने कुछ नहीं कहा.

वो समझ गया और रेणु की गांड सहला कर देखने लगा.
रेणु ने भागने की कोशिश की मगर उसने पकड़ लिया.

रेणु उसे मना करने लगी तो उसने गाली दी- चुप रह रंडी … चुदवाने के बाद अब शोर मचा रही है.

मेरी बहन शांत खड़ी हो गई.
मगर उस फौजी ने बहन के लांचा के नाड़े को पकड़ कर खींच दिया, जिससे लांचा निकल गया.
मेरी बहन नीचे से नंगी हो गई.

फौजी ने बहन को पकड़ लिया और उसका ब्लाउज निकाल कर फैंक दिया.

अब रेणु फिर से नंगी हो गयी.

उस फौजी ने मेरी बहन को उठा कर अपने कन्धों पर बिठा लिया और उसकी चूत चाटने लगा.
स आदमी का कद 6.2 फिट का था. मेरी बहन उसके सामने छोटी सी बकरी लग रही थी.

बहन की चूत चाटने के उसने मेरी बहन को नीचे उतारा और जैसे ही अपना लंड बाहर निकाला, मेरी बहन डरने लगी.
उस फौजी का लंड किसी मोटे खीरे के जैसे था.

अब उस फौजी ने अपना लंड चाटने को कहा.
मेरी बहन ने अपने मुँह में लंड लेने की कोशिश की मगर वो सिर्फ लंड का टोपा ही ले पा रही थी.

लंड का टोपा मोटा होने के कारण जैसे तैसे मेरी बहन ने लंड को चाट कर कड़क किया.

मैंने देखा कि मेरी बहन को उस फौजी का लंड चाटने में मजा आने लगा था और वो उसके टट्टों को सहलाती हुई पूरी मस्ती में लंड से खेल रही थी.

कुछ देर बाद उस फौजी ने मेरी बहन को आलू के बोरों के ऊपर चित लिटाया और उसकी दोनों टांगों को फैलाते हुए ऊपर को उठा दिए.
मेरी बहन की चूत एकदम से चिर कर फौजी के सामने आ गई.

अब फौजी ने अपना लंड चूत पर टिका दिया.

मेरी बहन के चेहरे पर हल्की सी घबराहट दिखी, उसने फौजी से कहा- मेरी फाड़ मत देना.

वो फौजी हंसा और उसने लंड को दाब दे दी.

जैसे ही लंड चूत के अन्दर गया, मेरी बहन छटपटाने लगी और दर्द से कराहने लगी- आंह मर गई मम्मी रे … प्लीज़ निकाल लो … बहुत बड़ा है … मेरी फट जाएगी.

मगर फौजी ने उसकी एक नहीं सुनी, वो अपनी मस्ती में धक्का देने लगा.

फौजी का लंड वाकयी बहुत बड़ा था. मेरी बहन रो रही थी.

धीरे धीरे फौजी ने अपना पूरा मूसल लंड चूत में पेल दिया.

कुछ देर रुकने और मेरी बहन को चूमने के बाद उसने धकापेल चुदाई शुरू कर दी.

करीब 10 मिनट तक ताबड़तोड़ चूत चोदने में मेरी बहन एकदम बेदम और लस्त हो गयी.
मगर फौजी चूत में धक्का देता रहा.

फिर उसने लंड चूत से निकाला और मेरी बहन को किसी खिलौने के जैसे पलटा दिया.
अब मेरी बहन की टांगें आलू के बोरों से नीचे लटक गई थीं और चूचियां आलू के बोरों से रगड़ खाने लगी थीं.

फौजी ने मेरी बहन की टांगें खोलीं और पीछे से अपना लंड गांड में घुसाने लगा.

मेरी बहन की गांड कुछ देर पहले ही उन लौंडों ने मारी थी तो जरा खुली थी मगर तब भी फौजी के खीरे जैसे लंड के हिसाब से मेरी बहन की गांड काफी छोटी थी.

फौजी इस समय सांड जैसा भनभना रहा था. उसे इस बात की जरा भी चिंता नहीं थी कि गांड फटेगी या बचेगी.

फौजी ने मेरी बहन को नीचे झुकाया और उसकी गांड में थूक लगा कर लौड़ा पेलने लगा.

रेणु की हालत खराब पहले से थी … मगर कमाल की बात ये थी कि उसने अपनी गांड मराने में ज़्यादा विरोध नहीं किया.

फौजी का लंड रेणु की गांड में नहीं जा रहा था.
फौजी ने गांड के छेद में सुपारा सैट किया और कमर पकड़ कर एक जोर का धक्का दे मारा.

उसका लंड गांड को चीरता फाड़ता हुआ अन्दर घुस गया.
रेणु रोने लगी, उसकी गांड से खून निकलने लगा.

मगर फौजी धक्का देता रहा.
कुछ धक्कों बाद रेणु की गांड का गड्डा चौड़ा हो गया और वो फौजी से अपनी गांड मराने लगी.

कोई 15 मिनट तक मेरी बहन की गांड मारने के बाद वह उसकी गांड में ही झड़ने लगा.
उसने अपना सारा माल गांड में ही गिरा दिया और लंड निकाल कर अपने कपड़े ठीक करने लगा.
एक मिनट बाद वो बाहर चला गया.

मैंने देखा कि रेणु की गांड काफी फ़ैल गई थी और उसमें से फौजी के लंड की मलाई टपक रही थी.

वो बोरों पर पड़ी पड़ी अपनी गांड को फैला और पिचका रही थी.

उसकी चूत से मूत निकल रहा था और गांड से खून.

कुछ देर बाद रेणु लंगड़ाती हुई उठी और अपने कपड़े पहन कर बाहर चली गयी.

मैंने अपने मोबाइल के कैमरे में अपनी बहन की चुदाई की सारी रिकॉर्डिंग करके सेव कर ली और एक बार मुठ मार कर वहां से बाहर चला आया.

जब सुबह हुई तो मैंने देखा कि मेरी बहन उठ नहीं पा रही थी और चल भी नहीं पा रही थी.

मैंने पूछा- क्या हुआ?
उसने कहा- पैर में मोच आ गई है.

मैंने धीरे से कह दिया- हां मोच तो आएगी ही, सारी रात तुम्हारी चुदाई भी तो अच्छे से हुई है.

मेरी बहन मेरी तरफ देखने लगी.

वो अभी कुछ कहती, तभी मैंने उससे कह दिया- मैं वहीं था और मैंने सब देखा है. तुम चिंता मत करो मैं किसी से कुछ नहीं कहूँगा.

वो मेरे सीने से लग कर सुबकने लगी.
मैंने भी उसकी गांड पर हाथ फेर कर उसकी चूत में अपने खड़े होते लंड को रगड़ दिया.

उसको मेरे लंड का अहसास हुआ तो वो मेरी तरफ देखने लगी.
मैंने उसे आंख मार दी, तो वो भी समझ गई और मुस्कुराने लगी.

इसके बाद क्या हुआ, वो मैं अगली सेक्स कहानी में लिखूंगा.

मुझसे मेरी बहन की चुदाई बारे में ज्यादा जानकारी के लिए लड़कियां मुझे ईमेल करें. और लड़के अपनी बहन को कैसे चोदें, इसकी जानकारी के लिए मेल लिखें.
कैसी लगी आपको यह यंग Xxx चुत स्टोरी?
[email protected]

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *