मां की हवस और बेटे की जवानी

मॉम सन सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैंने अपनी मॉम को पापा से चुदती देख मेरा मन भी उन्हें चोदने को करने लगा. मेरी हवस को पंख लगे जब मैंने उन्हें चूत में खीरा घुसाते देखा.

दोस्तो, मेरा नाम अमित है. मेरी उम्र 19 है और मैं कंप्यूटर कोर्स कर रहा हूं.
मैं पुणे का रहने वाला हूं. मैं काफी फिट और लम्बा भी हूं. मैं जिम भी जाता हूं.
मेरा लौड़ा काफी मोटा और लम्बा है.

कोई भी लड़की मैं बहुत जल्दी ही पटा लेता हूं लेकिन मुझे भरी हुई उम्रदराज आंटी, मम्मी टाइप की औरतें पसंद हैं.

मेरे घर में मेरे डैड, मॉम और मैं ही हूं.
मेरी मॉम की उम्र 39 है लेकिन वो काफी सजती संवरती हैं और फिगर मेंटेन करने के कारण वो 32 की लगती हैं. उनके बूब्स काफ़ी बड़े हैं.

जब वो चलती है तो उनकी गांड बहुत मटकती है और जब वो खड़ी होती हैं तो उनकी साड़ी सलवार उनकी गांड की दरार में घुस जाती है.

उन्हें चोदने का मेरा मन जब हुआ जब मैंने उन्हें रात को डैड के साथ सेक्स करते देखा है.

मुझे अपनी मॉम का भरा हुआ जिस्म बहुत पसंद आया चुदते हुए!
उनकी बड़ी उछलती हुई गांड देखकर मैंने मन बना लिया कि मॉम को चोद के ही रहूंगा.

इसके लिए मैंने योजना बनानी शुरू की.
पहले तो मैंने अन्तर्वासना पे मॉम सन सेक्स की बहुत कहानी पढ़ी. फिर मैंने मॉम की हरकतों पर ध्यान देना शुरू कर दिया.

मैं सारा दिन मां को घूरता रहता उनके भरे जिस्म देखकर रोज़ मुठ मारता.

मां मेरी काफी चुदक्कड़ थीं … ये मुझे जब पता चला जब मेरे डैड बिज़नेस के सिसिले से शहर से बाहर गए.
तब मैंने नोटिस किया कि मां बहुत दुखी लग रही थीं.

जब रात को मैं टॉयलेट के लिए उठा तो देखा कि मॉम के कमरे का बल्ब जल रहा था.
मैंने गेट के ऊपर वाली खिड़की से झांक कर देखा तो मुझे कोई आश्चर्य तो नहीं हुआ.

लेकिन जो मैंने देखा वो काफी सेंसुअल था.

मैंने देखा कि मॉम एक खीरे पर कॉन्डम चढ़ाकर अपनी चूत पर अंदर बाहर कर रही थी.
खीरा काफी मोटा होने के बावजूद मॉम के अंदर घुस रहा था.

तब मुझे लगा कि मेरी मां काफी बड़ी चुदक्कड़ है.

मैंने तभी मुठ मारा और मैं ये सोचने लगा कि मॉम को कैसे चोदा जाए!
सोचते सोचते मुझे नींद आ गई और मैं सो गया.

जब सुबह उठा तो मॉम काफी टेंशन में लग रही थीं.
मैंने पूछा- क्या हुआ?
तो मॉम ने बताया कि तेरे डैड का फोन आया था और उन्होंने कहा कि मैं 5 दिन और नहीं आऊंगा!

ये कहकर मॉम रोने लगी.
मैंने उन्हें अपने गले लगा लिया लेकिन किसी और तरीके से ना कि मां के जैसे!

मैं मां के बूब्स को अपने पेट पर महसूस कर पा रहा था जिससे मेरा लन्ड खड़ा हो गया.

मैंने सोचा कि मैं अपना लन्ड मॉम को फील करा दूँ.
तो मैंने मॉम को थोड़ा घुमा कर पीछे से पकड़ लिया और अपना लौड़ा मॉम की गांड की दरार में रगड़ने लगा.

मैंने देखा कि मॉम की आंखें बंद हो गई हैं और मध्यम सुर में सिसकारी ले रही थी.
तभी मॉम की आंख खुली और उन्होंने मुझसे छूटना चाहा.

मैंने अपने हाथ खोल दिया और मॉम चली गई.
मॉम जाकर बाथरूम में घुस गई.

मैं समझ गया कि मॉम गर्म हो गई है और अपना रस निकालने बाथरूम में गई हैं.
फिर मैंने सोचा कि अभी मॉम को चोदने का अच्छा मौका है, डैड काफी दिन बाद आएंगे.

मैंने रात के लिए सोचा. लेकिन मुझे ये डर भी लग रहा था कि मॉम मेरी हरकतों के बारे में डैड को ना बता दें.
इसलिए मैंने सोचा कि मॉम को पहले गर्म किया जाए.

मैंने काफी पोर्न वीडियो मोबाइल में डाउनलोड कर लिए और शाम होने का इंतजार करने लगा.

रात होते ही मैंने देखा कि मॉम अपने कमरे में थीं.

मैंने घड़ी की तरफ देखा रात के 9 बज रहे थे.
मैं सही समय समझकर मैं मॉम के कमरे में फोन और हेडफोन लेकर चला गया.

मॉम रात को नाइटी पहने हुए थी. उनकी नाइटी घुटनों तक थी और वो बेड पर बैठी हुई थी.

मैंने मॉम से कहा- एक नया सॉन्ग आया है, सुनना चाहोगी? मूड फ्रेश हो जाएगा.
मॉम ने हां कह कर हेडफोन लेने के लिए हाथ आगे बढ़ाया.

मैंने मॉम को हेडफोन दिया. मॉम ने हेडफोन कानों में लगाया और मैंने सॉन्ग चालू कर दिया.

मॉम सॉन्ग सुनने लगी.
मैं मॉम की गोद में सिर रखकर लेट गया.

मॉम बेड पर बैठी थी और उनके पैर बेड से नीचे लटके थे.

2 मिनट बाद जब सॉन्ग खत्म होने वाला था तो मैंने सॉन्ग की जगह पोर्न चालू कर दिया.

मॉम के कानों में पोर्न की आवाजें आने लगीं.

मैंने देखा कि मॉम अपनी आंखों को बंद करके अपने होंठ काट रही थीं.
वो दृश्य कितना उत्तेजना पैदा करने वाला था … उफ़ … मेरा लौड़ा उफान मारने लगा.

मैंने मॉम की नाइटी ऊपर कर दी तो उनकी गुलाबी रंग की पेंटी दिखने लगी.

तब मैंने मॉम की चूत को सूंघा.
क्या मनमोहक खुशबू थी!

मॉम अपने पोर्न के नशे में थी और मैंने उनकी पेंटी को छुआ तो मुझे पता लगा कि मॉम की पेंटी गीली हो चुकी थी.
अब मॉम गर्म होने लगी थी.

मैंने उनकी पेंटी को नीचे किया और उस पर जीभ फेर दी.
मुझे मॉम की चूत का नमकीन पानी का स्वाद आया जो मुझे बहुत अच्छा लगा.

मैं मॉम की चूत पर जीभ रगड़ने लगा.
मॉम बेड पर लेट गई और अभी भी मॉम की आंखें बंद थी.

मैंने उनकी पेंटी निकाल कर फेंक दी. उनके दोनों पैर अलग करके मैंने उनकी चूत में जीभ घुसेड़ दी.
अब मेरी मॉम की सिसकारियां निकालने लगी, आ आह उफ़ अहा जैसी आवाज़ मेरा जोश बढ़ाने लगीं मैं और जोर से चाटने लगा.

10 मिनट बाद मॉम झड़ गई और मैं चूत से निकला सारा रस गटक गया, मैंने एक भी बूंद बर्बाद नहीं होने दी.

इसी के साथ मॉम की आंखें खुल गई.
अब हम दोनों एक दूसरे से नजर नहीं मिला पा रहे थे.

मॉम उठकर बाथरूम में चली गई और थोड़ी देर बाद बाहर निकली.
मुझे लगा कि मॉम मुझसे गुस्सा होंगी लेकिन मुझे कुछ और ही देखने को मिला मॉम पूरी नंगी मेरे सामने आ गई.

मेरी आंखें फटी की फटी रह गई और मैं बहुत खुश हो गया.
मॉम के बड़े बड़े बूब्स देखकर मेरा लन्ड उछलने लगा, मैंने सीधे मॉम के होंठ से होंठ मिला दिए और गहन चुम्बन करने लगे. हम दोनों एक दूसरे की जीभ चूस रहे थे.

करीब 5 मिनट किस करने के बाद मॉम ने मेरे सारे कपड़े उतारना शुरू कर दिया.
हम दोनों एक दूसरे के सामने नंगे खड़े थे और मेरा लौड़ा टनटना कर उछाल मार रहा था.

मॉम ने मेरे लन्ड पर हाथ रखा और सुपारे पर जीभ फेरने लगी और मेरा लौड़ा गपक लिया.
मुझे चरमसुख का आनंद मिल रहा था.

मॉम मेरा लौड़ा 5 मिनट तक चूसती रही और मैं मॉम के मुंह में ही झड़ गया.
मेरी मॉम मेरा सारा रस पी गयी.

मैंने मॉम को गोद में उठाकर बेड पर लिटा दिया और खुद मैं उनके ऊपर चढ़ गया. उनकी एक टांग मैंने अपने कंधे पर रखी और अपना लौड़ा चूत पर सेट किया.
मैं अपना लौड़ा रगड़ता रहा.

तब मॉम बोली- ये सब बाद में कर लेना … अभी मुझे और मत तड़पा! आज मुझे तू अपनी रखैल बना कर चोद दे … और रोज़ चोदना!
ये सुनकर मेरी खुशी और जोश दोनों बढ़ गए.

मैंने एक जोरदार झटका मारा जिससे मेरा 7 इंच का लौड़ा मॉम की चूत में पूरा समा गया.

मॉम की चीख निकल गई और उनके आंख से आंसू निकल आए.

मैंने पूछा- आप के आंसू क्यूं निकाल रहे हैं?
मॉम ने बताया कि उन्होंने पहले कभी इतना मोटा और बड़ा लौड़ा नहीं लिया.

अभी भी मेरा लन्ड मॉम की चूत में ही था.
मैंने मॉम से पूछा- आप कितने लन्ड ले चुकी हो?
उन्होंने कहा- बाद में बताऊंगी … पहले तू अपना काम चालू कर!
मैंने कहा- ठीक है.

मैंने अपना लन्ड थोड़ा बाहर निकाला और फिर से झटका मारा.
मॉम की सिसकारियां निकनने लगी, वे आह उह उफ़ आ ह मार दिया जैसी आवाजें निकाल रही थी.

मैं धीरे धीरे अन्दर बाहर करने लगा.
थोड़ी देर में मॉम को भी मज़ा आने लगा और प्यार भरी आहें भरने लगी.

मैंने अपनी गति बढ़ा दी और मॉम की आवाजें तेज होने लगी.
करीब 10 मिनट के मॉम सन सेक्स में मॉम झड़ गई और साथ में मैं भी झड़ गया.

मैं मॉम के ऊपर निढाल होकर गया.

फिर थोड़ी देर बाद में और मॉम उठे और फिर से चुदाई चालू हो गई.

उस रात को हम मॉम सन ने 6 बार चुदाई की.

सुबह हम लोग 11 बजे तक सोकर उठे और साथ में ही नंगे बाथरूम में घुस गए और साथ में ही नहाने लगे.

वहां पर भी हमने एक बार चुदाई की और तैयार होकर कपड़े पहन कर हम लोग रेस्टोरेंट में खाना खाने के लिए गए.

हमने मॉल में जाकर शॉपिंग भी की. जिसमें मॉम ने अपने लिए पेंटी और डिजाइनर ब्रा खरीदी.
उनको मॉम ने चेंजिंग रूम जाकर पहनकर अपनी फोटो मुझे मेसेज करके भेजी.
वो इनमें बहुत हॉट लग रही थी, वो ब्रा मॉम के बड़े बड़े दूधों को ढकने में असमर्थ थी.

मैंने रिप्लाई किया- टू मच सेक्सी!

हमने दोपहर का खाना भी पैक करवा लिया. फिर थोड़ी देर बाद हम घर आ गए.
घर आकर खाना खा लिया.

फिर मॉम ने कहा- चुदाई शुरू करें?
मैंने कहा- घर में करने का मेरा मन नहीं है, कहीं बाहर जाकर करें … जैसे किसी होटल में?
मॉम ने कहा- ठीक है … तो फिर हम गोवा चलते हैं.

यह सुनकर मैंने हाँ कर दी और फ्लाइट टिकट बुक करा लिए.
रात की फ्लाइट से हम लोग गोवा पहुंच गए.

वहां बीच के पास में ही एक होटल बुक कर लिया और रात के करीब 3 बजे हम अपने कमरे में पहुंच गए.
पहुंचते ही मैं अपनी मॉम से चिपक गया और किस करने लगा.

किस करते करते हम एक दूसरे के कपड़े उतारने लगे.
मॉम ने मेरे सारे कपड़े उतार दिए.
मैंने भी मॉम के कपड़े उतार दिये.

लेकिन मॉम की ब्रा मुझसे खुली नहीं तो मैंने ब्रा खींच कर फाड़ दी.

मैंने मॉम को धक्का मारकर बेड पे लिटा दिया. मैं उनके पैरों की चूमते हुए उनकी जांघें चाटने लगा.

फिर मैंने मॉम की चूत का रुख किया, मैं मॉम की चूत चाटने लगा, उनकी चूत में जीभ भी घुसेड़ रहा था.

मॉम सिसकारियां भर रही थी और अपने होंठ काट रही थी. वो अपने बूब्स भी मसल रही थी. और एक दूध मैं भी मसल रहा था.

मैंने 5 मिनट तक चूत मॉम की चूत चाटी. उसके बाद मॉम मेरे मुंह में ही झड़ गई और मैं उनका सारा रस पी गया.

फिर मैं मॉम के बूब्स दबाने लगा साथ ही उनके निप्पल काट रहा था.

उसके मॉम ने मुझसे बैठने को कहा.
मैं बैठ गया.

फिर मॉम मेरा लन्ड पकड़ जीभ फेरने लगी और फिर मेरा पूरा लन्ड गपक गई. वो अपने मुंह में अंदर बाहर करने लगी.

एक तरह से मैं मॉम के मुंह को चोद रहा था.
थोड़ी देर बाद मैं मॉम के मुंह में ही झड़ गया मॉम ने सारा रस अपने कंठ में बसा लिया.

फिर मैंने मॉम से 69 वाली पोजिशन के लिए कहा.
ये मुझे बहुत पसंद है.

हम 69 की पोजिशन में थे … मैं मॉम की चूत चाट रहा था और वो मेरा लन्ड चूस रहीं थीं.
थोड़ी देर में हम लोग उठे, मैंने मॉम से कहा- मॉम कुतिया बनो!

मॉम ने कहा- तू मुझे मॉम क्यूं बोलता है?
मैंने कहा- फिर क्या कहूं?
मॉम ने कहा- तू मुझे गाली देकर बुलाया कर!

मैंने कहा- ठीक है मेरी रण्डी … आ जा कुतिया बन जा! आज मैं तेरी चूत का भोसड़ा बना दूंगा.

मॉम ने कहा- मादरचोद … चोद तू मुझे! साला हरामी!
और मॉम कुतिया बन गई.

मैंने अपना लौड़ा मॉम की चूत पर सेट किया और पहली बार में एक जोरदार धक्का मारा.
मेरा पूरा लौड़ा मेरी मॉम की चूत में घुस गया.
मॉम की चीख निकल गई.

मैं धीरे धीरे अन्दर बाहर करने लगा और मॉम की सिसकारियों के साथ गाली भी बक रही थी- साले मां के लौड़े … तू मादरचोद बन गया हरामी कुतिया के पिल्ले … जल्दी से चोद!

इससे मेरा जोश बढ़ गया करीब 15 मिनट तक घनघोर चुदाई के बाद हम झड़ गए और वहीं सो गए.

सुबह 9 बजे हमारी नींद खुली.
फिर मॉम की चूत एक बार और मारकर हम लोग नहाने लगे.

तैयार होने के बाद मॉम ने एक मिनी स्कर्ट और टॉप पहनी जो गहरे गले की थी जिसमें मॉम के आधे दूध दिख रहे थे.

हम लोग खाना खाने गए तो सारे वेटर की नजर मेरी मॉम पर थी.
खाना खाने के बाद हम रूम में आ गए.

मैंने मॉम से कहा- अभी थोड़ा रेस्ट कर लेते हैं. फिर बीच पर नहाने चलेंगे.
मॉम ने कहा- ठीक है.

हम मॉम सन सारे कपड़े उतारकर नंगे ही सो गए.

शाम को हम सोकर जागे.
जागते ही मॉम ने मुझे एक डीप किस दी.

मैंने मॉम से पूछा- मेरे दिमाग में एक सवाल आया था … क्या सभी लोग अपनी मॉम या सिस्टर के साथ सेक्स करते हैं?
मॉम ने कहा- सभी मॉम का मन तो होता है अपने बेटे से चुदाने का … लेकिन हिम्मत नहीं जुटा पाती. सभी लड़कों को भी अपनी मां बहुत पसंद होती है, उनका भी मन होता होगा … लेकिन हमारी किस्मत अच्छी थी जो हमें सही मौका मिल गया.

मैंने मॉम से कहा- चलो बीच पे चलते हैं.
मॉम ने कहा- ठीक है … लेकिन मैं क्या पहन के चलूं?
मैंने कहा- बिकिनी … जो आपने मॉल में खरीदी थी.

मॉम ने कहा- नहीं, मुझे सब के सामने शर्म आती है.
मैंने कहा- यहां पर कोई हमें जानता ही नहीं है.

और मैंने थोड़ा जोर दिया तब मॉम चलने के लिए तैयार हुई.
मैंने उन्हें अपने हाथों से ब्रा और पेंटी पहनाई.
उसमें मॉम बहुत सेक्सी लग रही थी.

मैंने भी शॉर्ट पहन लिए.

फिर हम लोग जाने लगे.
मॉम के चूतड़ पूरे हिल रहे थे चलने में … और उस पेंटी ने उनकी सिर्फ बीच की दरार को ही ढक पाया था जिससे उनके पूरे चूतड़ दिख रहे थे.

वहां जितने भी लोग थे, सबकी नजर मेरी मॉम पर थी.

हम लोग समुंदर में नहाने लगे और मस्ती करने लगे.

फिर हम समुंदर किनारे बैठ गए और बाते करने लगे.

मैंने मॉम से पूछा- आप डैड के अलावा और किसके लौड़े ले चुकी हो?
मॉम ने कहा- मुझे याद भी नहीं मैंने कितने लौड़े लिए हैं. कम से कम 50 लोगों के तो लिए होंगे.

यह सुनकर मैं एकदम हैरान रह गया.
उन्होंने बताया- जब तेरे डैड बाहर चले जाते थे तो मैं कॉलबॉय को बुलाकर चुदाती थी.

मॉम ने आगे बताया- सबसे पहले तेरे मामा ने मुझे चोदा था जब मैं 19 साल की थी और बी ए में पढ़ती थी. फिर मेरे बहुत बॉयफ्रेंड ने भी चोदा.

मैंने कहा- तू तो रण्डी निकली!
वो बोली- हां … लेकिन अब सिर्फ तेरा और तेरे पापा का ही लूंगी.

फिर हम लोग खाना खाकर रूम में आ गए और पूरे 4 दिन चुदाई के बाद घर आ गये.
और फिर मॉम सन सेक्स का सिलसिला ऐसे ही चलता रहा.
जब डैड घर आ गए तब भी हम मौका देख कर चुदाई कर लेते!

उम्मीद है दोस्तो … आपके लौड़े और चूत गीली हुई होगी. मॉम सन सेक्स कहानी अच्छी लगी होगी.
तो ईमेल करके जरूर बताएं आपके लिए ऐसी स्टोरी लाता रहूंगा!
धन्यवाद.
[email protected]

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *